Search
Library
Log in
Watch fullscreen
4 months ago

Delta Plus Variant का 3 Reason से बढ़ा खतरा, ICMR Scientist का दावा | Boldsky

Boldsky
Boldsky
The Indian Council of Medical Research (ICMR), a central government agency, has rubbished claims that the Delta Plus variant would be responsible for the third wave of the pandemic in the country. ICMR's Dr. Sumit Agarwal said on Thursday, 'It is too early to say that the third wave of the epidemic will come from the Delta Plus variant in the country. There can be other reasons for this as well. He further explained that, each virus has a general tendency to mutate. We cannot control it. “So far we have identified three traits of the Delta Plus variant. First- it spreads very fast. Second- It damages the lungs very fast. Third- Monoclonal antibody reduces the effect of therapy

केंद्र सरकार की एजेंसी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने इन दावों पर विराम लगाया है कि डेल्टा प्लस वैरिएंट देश में महामारी की तीसरी लहर के लिए जिम्मेदार होगा। ICMR के डॉ. सुमित अग्रवाल ने गुरुवार को बताया, 'यह कहना जल्दबाजी होगी कि देश में डेल्टा प्लस वैरिएंट से महामारी की तीसरी लहर आएगी। इसके दूसरे कारण भी हो सकते हैं। उन्होंने आगे बताया कि, प्रत्येक वायरस में म्यूटेट होने की एक सामान्य प्रवृत्ति होती है। इसे हम नियंत्रित नहीं कर सकते। महामारी की शुरुआत में यह अल्फा था, बाद में यह डेल्टा हुआ और अब यह डेल्टा प्लस हो गया है। भविष्य में और भी म्यूटेशन देखने को मिल सकते हैं। हमें इसके साथ ही आगे बढ़ना होगा। हालांकि, उन्होंने इसे चिंताजनक बताया है। अब तक हमने डेल्टा प्लस वैरिएंट के तीन लक्षणों की पहचान की है। पहला- यह बहुत तेजी से फैलता है। दूसरा- यह फेफड़ों को बहुत तेजी से नुकसान पहुंचाता है। तीसरा- मोनोक्लोनल एंटीबॉडी थेरेपी का असर कम कर देता है।'

#DeltaPlusVariant3BigReason

Browse more videos

Browse more videos