Search
Library
Log in
Watch fullscreen
4 months ago

CORONAVIRUS से क्या है BLACK FUNGUS यानी Mucormycosis का संबंध, काली फफूंद से कैसे करें बचाव ?

Knocking News
US सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन(CDS) के अनुसार #Mucormycosis एक गंभीर लेकिन दुर्लभ फंगल इंफेक्शन है जो के Moulds के एक ग्रुप, जिसे micromycetes कहते हैं, के कारण होता है. CORONAVIRUS से क्या है BLACK FUNGUS

यह फंगस हमारे चारों ओर मुक्त रूप में मौजूद होता है लेकिन किसी के शरीर के अंदर इन्फेक्शन को संभव बनाने के लिए इसे एक विशेष इन्वायरमेंट की जरूरत होती है. यह समान्यतः नाक ,साइनस ,आंखों में या दिमाग में पाया जाता है."
डॉ. अर्पणा महाजन ,कंसलटेंट और ENT,फोर्टिस,फरीदाबाद

ये संक्रमण सामान्य तौर पर उन मरीजों में देखा जाता है जो कोविड से ठीक हो गए हैं, लेकिन डायबिटीज, किडनी या हार्ट फेलियर और कैंसर जैसी कोमोर्बिडिटी है."

डॉ मुंजाल ने कहा कि कमजोर इम्युन सिस्टम वाले कोविड मरीजों में इस संक्रमण के होने का खतरा ज्यादा है. उन्होंने कहा, "नाक में रुकावट, आंखों में सूजन और नाक में ब्लैक क्रस्ट जैसी शुरुआती लक्षणों को देखकर तुरंत बायोप्सी करानी चाहिए और जल्दी से जल्दी एंटीफंगल थेरेपी शुरू करनी चाहिए."

पिछले एक सप्ताह में पीजीआई रोहतक में सबसे अधिक ऐसे मामले सामने आए। पीजीआई में करीब 20 ऐसे मामले आए। इनमें से कुछ लोगों की आंख चली गई तो किसी का कान। वहीं, दो लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। अब करनाल मेडिकल कालेज में भी दो ऐसे मरीजों की पहचान की गई है, जिनको फंगस इंफेक्शन हो गया है। प्रांरभिक लक्षणों को देखते हुए उनका इलाज शुरू कर दिया है।

आंखों और नाक के पास लाल‍िमा
- बुखार
- स‍िरदर्द
- खांसी
- सांस लेने में तकलीफ
- खून भरी उलटी
- मानस‍िक स्‍थित‍ि में बदलाव

कोरोना के बाद क्‍यों हो रही है म्यूकोरमाइकोसिस या ब्‍लैक फंगस की समस्‍या

- शुगर की समस्‍या का कंट्रोल में न होना
- स्‍टीरॉयड्स की वजह से शरीर की प्रत‍िरोधक क्षमता में बदलाव
- आईसीयू में काफी समय तक एडम‍िट रहा
- Voriconazole थेरेपी

कोरोना के मरीजों को ब्‍लैक फंगस से ज्‍यादा खतरा क्‍यों

कोरोना के दौरान या फिर ठीक हो चुके मरीजों का इम्यून सिस्टम बहुत कमजोर होता है, इस वजह से
म्यूकोरमाइकोसिस या ब्‍लैक फंगस अपनी जकड़ में इनको आसानी से ले लेती है। कोरोना के जिन मरीजों को डायबिटीज की समस्‍या है, शुगर लेवल बढ़ जाने पर उनमें म्यूकोरमाइकोसिस खतरनाक रूप से सकता है।

इलाज के कारण बढ़ रहा है

म्यूकोरमाइकोसिस या ब्‍लैक फंगस से कैसे बचें, how to prevent mucormycosis covid

- शुगर को कंट्रोल में रखें
- कोव‍िड के इलाज और अस्‍पताल से ड‍िस्‍चार्ज होने के बाद भी ब्‍लड शुगर लेवल की जांच करते रहें
- स्‍टीरॉयड्स को ध्‍यान से लें
- ऑक्‍सीजन थेरेपी के दौरान साफ और स्‍टेराइल क‍िए गए पानी को प्रयोग में लाएं
- एंटीबायोट‍िक्‍स और एंटीफंगल दवाइयों का सावधानी से इस्‍तेमाल करें

म्यूकोरमाइकोसिस या ब्‍लैक फंगस में क्‍या न करें

- क‍िसी भी तरह के अलर्ट को इग्‍नोर न करें
- अगर आपको कोव‍िड हुआ है तो बंद नाक को महज जुकाम मानकर हल्के में न लें
- फंगल इंफेक्‍शन को लेकर जरूर टेस्‍ट करवाने में देरी न करें

म्यूकोरमाइकोसिस या ब्‍लैक फंगस से कैसे बचें

- जब भी बाहर जाएं, खासतौर पर धूल वाली जगह पर तो मास्‍क जरूर पहनें
- म‍िट्टी या पौधों की देखभाल करते समय जूते, पजामा, पूरी बांह की शर्ट और दस्‍ताने पहनें
- स्‍क्रब बाथ लेने समेत पर्सनल हाइजीन का भी ध्‍यान रखें

ध्‍यान दें क‍ि एक्‍सपर्ट्स का कहना है क‍ि म्यूकोरमाइकोसिस इंफेक्शन के ज्यादातर मामले उन मरीजों में देखे जा रहे हैं जो Covid-19 से ठीक हो चुके हैं लेकि

Browse more videos

Browse more videos