भूतिया किन्नर | Horror Stories | Horror Kahaniya | Hindi Stories | Hindi Moral Stories | Kahaniya

  • 4 years ago
Video Link: https://youtu.be/M35nfiy6M-c


Story

मंगतराम घर के द्वार पर बेचैनी से टहल रहा था। घर के अंदर उसकी बीवी प्रसव वेदना से कराह रही थी गांव की दाई अंदर उसकी बीवी के पास उसकी मदद कर रही थी। ये मंगत की चौथी संतान थी। इससे पहले भी उसकी तीन बेटियां थीं। मंगत को इस बार बेटा पैदा होने की पूरी उम्मीद थी। हे प्रभु अब तो बेटी का सुख मेरी झोली में डाल दे। तेरे हर दरवाजे पर मत्था टेक आया हूं तभी अंदर से बच्ची की खिलखिलाहट पहुंचती है। मंगत तेजी से अंदर जाता है। बधाई हो मंगत इस बार ईश्वर ने तुम्हारी सुन ली। तेरे घर चांद सा बेटा हुआ है। इस बार सिर्फ साड़ी नहीं चांदी के झुमके भी लूंगी।

आगे की कहानी वीडियो देख कर जाने|


►Subscribe for More Hindi Horror Stories- https://bit.ly/3esTEFm
LIKE | SHARE | COMMENT | SUBSCRIBE
-------------
✿The following video contains some horror elements suitable for a mature audience.
------------
Copyright © 2018 by Best Buddies Media Pvt Ltd. All rights reserved.

Recommended