2 years ago

Ahoi Ashtami 2020: अहोई अष्टमी पूजा विधि | Ahoi Ashtami Puja Vidhi | Boldsky

Boldsky
Boldsky
Ahoi Ashtami fast will be observed on November 8. Ahoi Ashtami is also known as Ahoi Eight. On this day, mothers fast for the longevity and well-being of their sons, from dawn to dusk i.e. twilight. The fast is opened in the evening after seeing the stars of the sky. Some women open the fast after seeing the moon. But it is considered very difficult to follow this fast. Moonrise occurs late at night on Ahoi Ashtami. The day of Ahoi Ashtami fast falls four days after Karva Chauth and eight days before Diwali Puja. Like Karwa Chauth, Ahoi Ashtami is more famous in North India. This fast is observed on Ashtami Tithi, the eighth day of the month. Like Karwa Chauth, Ahoi Ashtami day is also considered to be a day of harsh fasting. And many women do not even consume water throughout the day. Know Ahoi Ashtami Puja Vidhi and Ahoi Ashtami Pujan Vidhi.

इस वर्ष अहोई अष्टमी (Ahoi Ashtami) का व्रत (November) 8 नवंबर को मनाया जाएगा. अहोई अष्टमी को अहोई आठें के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन माताएं अपने पुत्रों की दीर्घायु और भलाई के लिए सुबह से लेकर शाम तक यानि गोधूलि बेला तक उपवास करती हैं. शाम को आकाश के तारों को देखने के बाद व्रत खोला जाता है. कुछ महिलाएं चन्द्रमा के दर्शन करने के बाद व्रत खोलती हैं. लेकिन इसका व्रत का पालक करना काफी कठिन माना जाता है. अहोई अष्टमी के दिन रात में चन्द्रोदय देर से होता है. अहोई अष्टमी व्रत का दिन करवा चौथ के चार दिन बाद और दीवाली पूजा से आठ दिन पहले पड़ता है. करवा चौथ के समान अहोई अष्टमी उत्तर भारत में ज्यादा प्रसिद्ध है. यह व्रत अष्टमी तिथि, जो कि माह का आठवां दिन किया जाता है. करवा चौथ के समान अहोई अष्टमी का दिन भी कठोर उपवास का दिन माना जाता है. और बहुत सी महिलाएं पूरे दिन जल तक ग्रहण नहीं करती हैं. जानें अहोई अष्टमी पूजा विधि के बारे में विस्तार से ।

#AhoiAshtamiPujaVidhi #AhoiAshtamiPujanVidhi #AhoiAshtami2020

Browse more videos

Browse more videos