Search
Library
Log in
Watch fullscreen
9 months ago

शुरू हुआ पशुओं को बीमारी से बचाने का प्रयास

Patrika
Patrika

149 लाख गाय भैंसों का होगा वैक्सीनेशन
प्रदेश के 18 जिलों में शुरू हुआ टीकाकरण अभियान
शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य किया निर्धारित

पशु पालन विभाग की ओर से आज राज्यव्यापी एफ.एम.डी. टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई। इस अभियान के तहत गाय और भैंस वंशीय पशुओं को खुरपका और मुंहपका रोग से बचाने के लिए टीका लगाया जाएगा। राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत इस अभियान को चलाया जा रहा है।
आपको बता दें कि इस रोग के कारण पशुपालकों को काफी हानि उठानी पड़ती है। एक अनुमान के मुताबिक देश में एफएमडी से लगभग 20 हजार करोड़ रुपए की आर्थिक हानि होती है और दूध का उत्पादन लगभग 50 फीसदी तक कम हो जाता है।

आज से शुरू किए गए इस अभियान के प्रथम चरण के तहत प्रदेश के 18 जिलों के समस्त गौवंश और भैंस वंश का वैक्सीनेशन किया जाएगा। साथ ही 4 से 5 माह की उम्र के बछड़े-बछडिय़ों को प्रारिम्भक वैक्सीन के एक माह बाद 24 लाख पशुओं का बूस्टर वैक्सीनेशन सहित कुल 173.33 पशुओं का टीकाकरण व टैगिंग का कार्य किया जाएगा।
राज्य के शेष 15 जिलों में एफ.एम.डी. रोग प्रतिरोधक टीकाकरण भी शीघ्र ही आरंभ किया जाएगा। जिसमें 115 लाख (99 लाख टीकाकरण तथा 16 लाख बूस्टर टीकाकरण) के लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं। विभाग के जिला संयुक्त निदेशक डॉ. उम्मेद सिंह ने कहा कि जयपुर जिले में 100 प्रतिशत टीकाकरण व टैगिंग के लक्ष्य को निर्धारित समय सीमा में प्राप्त करने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए माइक्रो लेवल पर योजना बना कर संस्थाओं को लक्ष्य वितरित किए गए हैं।
इस संबंध में पशु पालन मंत्री लाल चंद कटारिया ने कहा कि इस रोग से बचाव के लिए पशुपालकों को चाहिए कि वह अपने पशुओं को छह छह माह के अंतराल पर दो बार टीका जरूर लगवाए जिससे अभियान से आने वाले समय में एफएमडी रोग नियंत्रित कर इसे समूल नष्ट किया जा सके। वहीं विभाग के शासन सचिव डॉ. राजेश शर्मा का कहना था कि एफ.एम.डी. टीकाकरण के लिए पिछले 50 साल से टीकाकरण कार्यक्रम चल रहा था लेकिन इस वर्ष से शुरू किया गया टीकाकरण सबसे खास है क्योंकि इसके तहत हर पशु के कान में टैग भी लगाया जा रहा है।इसे पशु, पशुपालक और टीकाकरण की सभी सूचनाएं एनडीडीबी की ओर से विकसित किए गए इनाफ सॉफ्टेवयर में दर्ज हो जाएंगी।
पशु सहायकों के लिए की मुआवजे की मांग
वहीं दूसरी ओर टीकाकरण के दौरान पाली के पशु चिकित्सालय भारुंदा में पशुधन सहायक मनोहर कुमार चौधरी पर पशु ने हमला कर दिया जिससे वह घायल हो गए। उन्हें स्वास्थ्य केंद्र भारुंदा ले जाकर उपचार करवाया गया। इस दुर्घटना को देखते हुए राजस्थान पशु चिकित्सा कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष अजय सैनी ने पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ. वीरेंद्र सिंह ने वार्ता की और इस प्रकार की किसी भी घटना को लेकर मुआवजा दिए जाने की मांग की।

Browse more videos

Browse more videos